सुशांत डेथ केस: रिपोर्ट में दावा-ईडी को मिला सुशांत को हुई 17 करोड़ की पेमेंट का सुराग, 2017 में ‘राब्ता’ के लिए मिली थी यह रकम

By | 21st November 2020


Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

30 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सुशांत सिंह राजपूत के बैंक खाते से 15 करोड़ रुपए की हेराफेरी की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को करोड़ों रुपए के लेनदेन का सुराग मिला है। एक न्यूज वेबसाइट की खबर के मुताबिक, जांच एजेंसी को पता चला कि 2017 में फिल्म ‘राब्ता’ के लिए सुशांत को 17 करोड़ रुपए की संदिग्ध पेमेंट की गई थी। इस फिल्म के डायरेक्टर-प्रोड्यूसर दिनेश विजान थे, जिनसे ईडी पहले पूछताछ कर चुकी है। फिलहाल, विजान दुबई में हैं।

ओवरसीज बजट से जुड़े कागज़ नहीं दे पाए थे विजान

इंडिया टुडे ने अपनी रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से लिखा है कि पिछले महीने दिनेश विजान से ईडी ने पूछताछ की थी और उन्हें अपनी फिल्म के लिए सुशांत को की गई पेमेंट से संबंधित डॉक्युमेंट जमा करने के लिए कहा गया था। विजान ने कुछ डॉक्युमेंट जमा भी किए थे। लेकिन वे हंगरी में हुई ओवरसीज शूटिंग के बजट से जुड़े कागजात जमा नहीं कर पाए थे।

जांच एजेंसी को हवाला के जरिए पैसा आने का शक

रिपोर्ट के मुताबिक, ओवरसीज में शूट के लिए प्रोड्यूसर्स को कुछ रकम दी जाती है, जो संबंधित देश में हुई शूटिंग के बजट की 20 फीसदी तक हो सकती है। इसे ओवरसीज पर्क कहा जाता है।

ईडी को संदेह है कि प्रोड्यूसर्स विदेशी सरकारों, खासकर यूरोपीय देशों कि सरकारों को खर्च का ब्यौरा बढ़ाकर दिखाते हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा पेमेंट ले सकें और इससे एक्टर्स-एक्ट्रेसेस को भुगतान कर सकें। जांच एजेंसी को यह संदेह भी है कि विदेशों से यह पैसा उनके हवाला चैनल्स के जरिए भारत भेजा जाता है।

छापेमारी के बाद फिल्म के बजट का खुलासा हुआ था

इसी रिपोर्ट की मानें तो जब दिनेश विजान पेमेंट संबंधी कागजात जमा नहीं कर पाए तो ईडी ने उनके घर छापा मारा था। इस दौरान, फिल्म के बजट से संबंधित डॉक्युमेंट मिले थे। इन कागजात से पता चला कि फिल्म का बजट 50 करोड़ रुपए था और इसमें से 17 करोड़ रुपए सुशांत सिंह राजपूत को दिए गए थे।

करीब 4 महीने से चल रही ईडी की यह जांच

14 जून को सुशांत सिंह राजपूत की मौत के डेढ़ महीने बाद 31 जुलाई को ईडी ने रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शोविक, पिता इंद्रजीत, मां संध्या, सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा और मैनेजर श्रुति मोदी के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया था। यह केस सुशांत के पिता केके सिंह की पटना में दर्ज एफआईआर के आधार पर दर्ज किया गया था।

केके सिंह ने आरोप लगाया था कि इन सभी आरोपियों ने सुशांत के बैंक खातों से 15 करोड़ रुपए की गड़बड़ी की है। मामले में ईडी अब तक दो दर्जन से ज्यादा लोगों से पूछताछ कर चुकी है, जिनमें मुख्य आरोपियों समेत सुशांत का पूर्व स्टाफ और पूर्व टैलेंट मैनेजर्स शामिल हैं।



Source by [author_name]

0Shares