माधुरी दीक्षित ने इसी फिल्म में पहली बार दिया था डेथ सीन, नाना पाटेकर को बेहतरीन परफॉरमेंस के लिए मिला था नेशनल अवॉर्ड

By | 3rd November 2020


  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • 31 Years Of Parinda:Madhuri Dixit Had Given The Death Scene For The First Time In This Film, Nana Patekar Received The National Award For Best Performance

26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

माधुरी दीक्षित, अनिल कपूर, जैकी श्रॉफ, नाना पाटेकर स्टारर ‘परिंदा’ की रिलीज को 31 साल पूरे हो गए हैं। इस खास मौके पर माधुरी ने फिल्म से जुड़ी कुछ यादें शेयर की हैं।

उन्होंने ट्विटर पर फिल्म की एक फोटो शेयर करते हुए लिखा, ‘परिंदा’ को 31 साल पूरे हो गए। ‘परिंदा’ में पारो बनना बेहतरीन एक्सपीरिएंस था। फिल्म की टैगलाइन “The Most Powerful Film Ever Made”इसे पूरी तरह जस्टिफाई करती है। इस फिल्म में पहली बार मैंने डेथ सीन दिया था। फिल्म की कास्ट और क्रू के साथ बहुत अच्छी यादें हैं।

फिल्म के कुछ फैक्ट्स…

  • फिल्म हॉलीवुड मूवी ऑन द वॉटरफ्रंट से इंस्पायर होकर बनाई गई थी। पहले इसका नाम कबूतरखाना रखा गया था। ‘परिंदा’ की शूटिंग तीन साल में पूरी हुई थी क्योंकि लीड एक्टर्स की डेट्स नहीं मिल पा रही थीं जबकि फिल्म की शूटिंग में केवल 66 दिन का ही समय लगना था।
  • मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नसीरुद्दीन शाह ने फिल्म में अनिल कपूर के भाई का रोल करने से मना कर दिया था। फिल्म के राइटर इम्तियाज हुसैन के मुताबिक, उन्होंने नसीर साहब को यह स्टोरी सुनाई थी लेकिन उन्होंने यह कहकर इनकार कर दिया था कि अगर छोटे भाई (अनिल) का मर्डर हो जाएगा तो थिएटर में आगे की फिल्म देखने के लिए कोई नहीं रुकेगा।
  • एक इंटरव्यू में फिल्म के डायरेक्टर विधु विनोद चोपड़ा ने खुलासा किया था कि उनके पास फिल्म को बनाने के लिए केवल 12 लाख रु. का बजट था। फिल्म के बजट के लिहाज से यह रकम बेहद कम थी लेकिन इससे ये फायदा हुआ कि फिल्म को और ज्यादा ऑथेंटिक फील मिल गया। लोकेशन, चिल्लाती हुई भीड़ सबकुछ रियल था और हमारी वीकनेस ही हमारी स्ट्रेंथ बन गई।
  • फिल्म में अपनी बेहतरीन परफॉरमेंस के लिए नाना पाटेकर को बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का नेशनल अवॉर्ड मिला था।





Source by [author_name]

0Shares